National confrence 2019

 

 क्वालिटी रिसर्च पर करें फोकस
Aishwarya College Of Education Sansthan मे नेशनल कांफ्रेंस
उदयपुर। ज्ञान के विकास मे रिसर्च की महत्वपूर्ण भूमिका है। शिक्षण और प्रशिक्षण के क्षेत्र मे भी रिसर्च अहम किरदार निभाता है। अर्थशास्त्र के क्षेत्र मे नोबल पुरस्कार प्राप्त होना रिसर्च मे पूर्णतः सत्यात्मक तथ्यों को शामिल करने का प्रमाण है। देश के विकास के लिए स्काॅलर्स, फेकल्टी और स्टूडेंट्स को क्वालिटी रिसर्च पर फोकस करना होगा। ऐश्वर्या काॅलेज आॅफ एजुकेशन संस्थान मे आयोजित नेशनल कांफ्रेंस मे मुख्य अतिथि वीएमओयू. कोटा की डाॅयरेक्टर डाॅ. रश्मि बोहरा ने यह जानकारी दी। ऐश्वर्या संस्थान की सीएमडी. डाॅ. सीमा सिंह ने कांफ्रेस मे भाग लेने वाले सभी स्टूडेंट्स, स्काॅलर्स और फेकल्टी बधाई दी। “अंतर विषयी मुद्दों की प्रवृत्ति की पहंुच पर एकीकृत प्रगतिशील रणनीति” विषय पर हुई कांफ्रेंस मे मुख्य अतिथि उद्योगपति सुनील गालुनडिया ने कहा कि स्काॅलर्स अपने शोध का कार्य पूरे समर्पण के साथ करें। फील्ड वर्क स्टेडी और सत्यपरक तथ्यों को ही अपने रिसर्च मे शामिल करें। इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट एंड आईटी की निर्देशक डाॅ. रक्षा शर्मा, डाॅ. एएन. माथुर बीएड काॅलेज की प्राचार्या डाॅ. राशि माथुर, पीजी काॅलेज की प्राचार्या डाॅ. रीना शर्मा और अतिथियों ने इस दौरान जर्नल का विमोचन भी किया। विद्यार्थियों ने राजस्थानी नृत्य प्रस्तुत कर अतिथियों का स्वागत किया। 
ज्वलंत मुद्दों पर डाला प्रकाष
सेमीनार के दौरान रिसर्च पेपर, पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से फेकल्टी, स्काॅलर्स और स्टूडेंट्स ने ज्वलंत विषयों पर प्रकाश डाला और प्रभावी समाधान सुझाए। नेगेटिव इफेक्ट आॅफ सोशयल मीडिया, प्लास्टिक से पर्यावरण को रहे नुकसान, स्कूली और उच्च शिक्षा मे नवाचार की आवश्यकता, पर्यावरण, जल प्रदूषण बालिका शिक्षा, बाल मजदूरी आदि विषयों पर प्रतिभागियों ने पोस्टर और पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रकाश डाला और प्रभावी समाधान सुझाए। सेमीनार के दौरान आयोजित वर्कशाॅप मे प्रशांत वाजपेयी ने आईटी. सेक्टर मे रोजगार के अवसरों की उपलब्धता के बारे मे जानकारी दी। 



 
Privacy Policy | Disclaimer | Terms of Use
Last Updated on : 15/09/20