भारतीय सशस्त्र सेना झंडा दिवस दिनांक 07.12.2021


ऐश्वर्या कॉलेज में भारतीय सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाया गया। कार्यक्रम का संचालन हिमांशी श्रीमाली और मानसी शर्मा ने किया।


इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता विपुल बेनिवाल ने छात्रों का उत्साहवर्धन करते हुए उनको जानकारी दी की भारत की आज़ादी के बाद ये फैसला लिया गया था अगर भारतीय सशस्त्र सेना के जवानों को कोई नुकसान हो जाता है तो उनके कल्याण, उनकी सहायता और उनके सम्मान की रक्षा के लिए एक कोष होना चाहिए और इसी के बाद वर्ष 1949 में ये तय किया गया कि हर वर्ष 7 दिसंबर को सशस्त्र सेना झंडा दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य भारतीय सशस्त्र सेना को उनके हिस्से का सम्मान देना है इस दिन को इसलिए भी मनाया जाता है ताकि देश के हर नागरिक के दिल में सैनिकों के परिवारों की देखभाल और ज़िम्मेदारी का भाव पैदा किया जा सके। प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है कि वो सैनिकों के सम्मान और उनके कल्याण में अपना योगदान दें और इस काम के लिए पब्लिक फंड भी इकट्ठा किए जाते है देश का हर नागरिक अपनी मर्ज़ी से जितना संभव हो सके उतनी धनराशि का योगदान में दे सकता है।


यह दिवस हमारे राष्ट्रीय गर्व का प्रतीक है। पिछले पांच दशकों से अधिक समय से सशस्त्र सेना बलों के सैनिको ने राष्ट्र की अस्मिता को बनाए रखने के लिए निरंतर अपने जीवन को न्यौछावर किया हैं।

Privacy Policy | Disclaimer | Terms of Use
Last Updated on : 23/05/22