Women Day 2021

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस

ऐश्वर्या काॅलेज आॅफ एज्युकेशन संस्थान में सोमवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस तीन दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। विद्यार्थियों के चहुँमुखी विकास के लिए किताबी शिक्षा के साथ सांस्कृतिक ज्ञान भी आवश्यक है।
सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत सरस्वती वंदना से की गई, छात्रों द्वारा प्रस्तुत किए गए गीत व नृत्य की प्रस्तुतियों की अतिथियों द्वारा सराहना
की गई।
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को मनाने का लक्ष्य है समाज में महिलाओं को बराबरी का अधिकार देना और समाज में उनकी भागीदारी को बढ़ाया देना। इस दिन महिलाओं के आर्थिक, रातनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों को याद किया जाता है।
इस दिन महिलाओं के प्रति सम्मान, प्यार दिखाने के साथ उनके त्याग और जज्बे को सलाम करने के खास मौका होता है, महिलाओं के संघर्ष, तपस्या और बलिदान को याद करने के लिए 8 मार्च का दिन सबसे अच्छा है।
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने अनेकता में एकता की पहचान, भारत की शान, बेटी बचाओ, जल जीवन हरियाली, नशा मुक्ति और दहेज प्रथा एवं बाल विवाह उन्मूलन सहित कई मुद्दों पर प्रस्तुतियाँ दी।
तीन दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्देश्य विद्यार्थियों में अपनी संस्कृति और संस्कार के प्रति जागरूक कराते हुए उनके मन मस्तिष्क में अमिट छाप छोड़ना था।रखना है। कार्यक्रम में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया, प्रथम दिवस पर हस्त चित्रकला प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर यामिनी जोशी, द्वितीय स्थान पर नुरेन मलिक एवं लक्षिता चन्देल रहे। 
द्वितीय दिवस में मेहन्दी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें प्रथम स्थान पर दिक्षिता चैधरी, द्वितीय स्थान पर नुरिन मलिक तथा तृतीय स्थान पर जान्हवी सनाढ्य रही।
तृतीय दिवस पर रंगोली, नृत्य, गायन एवं कविता पाठ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमे प्रथम स्थान पर दिक्षित शर्मा (गायन), द्वितीय स्थान पर कुणाल चैबिसा (कविता पाठ) कन्दर्भ पण्ड्या (कविता पाठ, तृतीय स्थान पर जान्हवी सनाढ्य (नृत्य) रहे।
कार्यक्रम समापन समारोह में डाॅ. राशि माथुर तथा डाॅ. रीना शर्मा ने विजेता विद्यार्थियों को बधाई दी तथा ज्ञानवर्धक प्रतियोगिताओं में भाग लेने प्रेरणा दी।
Privacy Policy | Disclaimer | Terms of Use
Last Updated on : 02/12/21